Header Ads

cyber security in hindi | cyber security क्या है |

 

 साइबर सिक्युरिटी क्या है?

साइबर सिक्युरिटी सर्वर, कंप्यूटर, मोबाइल फोन, नेटवर्क, इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम और डेटा को किसी हमलों या हैक होने से बचाने के लिए किया जाता है। साइबर सुरक्षा को इलेक्ट्रॉनिक सूचना सुरक्षा के रूप में भी जानते है।  साइबर सुरक्षा को कुछ भागों में बात गया है।
 

  •  नेटवर्क सिक्युरिटी - नेटवर्क सिक्युरिटी से कंप्यूटर के नेटवर्क को सिक्युरिटी देती है, नेटवर्क सिक्युरिटी विशेष रूप से किसी भी कंप्यूटर को क्षति पहुंचाने या डाटा चुराने से रोकने के लिए के लिए लाया गया
  •  एप्लिकेशन सिक्युरिटी - एप्लिकेशन सिक्युरिटी हमारे डिवाइस के सॉफ्टवेयर को किसी भी खतरों से बचाने के लिए एप्लिकेशन सिक्युरिटी को लाया गया ।
  •  इनफार्मेशन सिक्युरिटी - इनफार्मेशन सिक्युरिटी हमारे डेटा को सिक्युरिटी और गोपनीयता की रक्षा करती है।


cyber-security-in-hindi

साइबर खतरों को समझे


1. साइबर अपराध में पैसों के लाभ के लिए कोई सरकारी या निजी संस्थान को हैक कर पैसा का ठगी करलेन ये दिन एस घटना घटी रहती हैं जिस से हमलोगों को सावधान रहने की जरूरत है ।

2. साइबर हमले कुछ महत्वपूर्ण या गोपनीय जानकारी को जनने के लिए हैक की जाती जैसे की कोई भी सरकारी गोपनीयता और ऐसी जानकारी हैक होने से सरकार और सिस्टम को नुकसान पहुँच सकती हैं ।

 

Malware क्या होता है

Malware का पूरा नाम Malicious Software हैं। Malware एक बहुत छोटे से सॉफ्टवेयर का कोड होता है जो हमारे computer में बिना हमारे इजाजत के हमारे सिस्टम में प्रवेश कर जाता है जिसका मुख्य उद्देश्य हमारे सिस्टम के परफॉर्मेंस को धीमा कर देता है और कंप्युटर डेटा को चोरी या नुकसान इसी Malicious Software से पहुंचता हैं 

                                                                 

Malware के प्रकार 

  • Virus - यह एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम का कोड है जो कंप्युटर में बिना हमारे अनुमति से प्रवेश करता हैं  आने के बाद हमारे कंप्युटर का स्पीड को धीमा कर देता है हमारे फाइल या डाटा को करपट या खराब कर देता हैं जिस से हमारा कंप्युटर सही प्रोफॉरमेंस नहीं दे पाती       

 

  • Trojan - यह भी एक Malware का ही प्रकार हैं जिसे साइबर क्रिमिनल द्वारा बनाया जाता है और इस को कंप्युटर में परवेश करा कर हमारे कंप्युटर के सारे डाटा को चुरा लिया जाता है जिस से हमारे कंप्युटर की जो भी महत्वपूर्ण फाइल है वो सारा हैकर के हाथ लग जाता हैं 

 

  • Spywareयह भी एक Malware का ही प्रकार हैं जिसे साइबर क्रिमिनल द्वारा बनाया जाता है जिस से यूजर क्या क्या कर रहा हैं खुद के कंप्युटर से कौन से फाइल खोल रहा हैं हमारे सारे गतिविधियों को साइबर क्रिमिनल नजर रखते हैं अक्सर हमारे डेबिट और क्रेडिट कार्ड के अनलाइन इस्तेमाल पर नजर रखते हैं 

 

  • Ransomwareयह भी एक Malware का ही प्रकार हैं जिसे साइबर क्रिमिनल द्वारा बनाया जाता है जिस से यूजर के फाइल या डाटा को लॉक लगा देता है और धमकी देगा की जब तक पैसा या कुछ रकम दोगे नहीं तब तक फाइल या डाटा से लॉक नहीं हटा एगा  

 

साइबर अपराधों से बचने के लिए कुछ टिप्स बताएंगे 

1. Update sofware and Operating system - इसका मतलब हैं की आप अपना ऑपरेटिंग सिस्टम और सॉफ्टवेयर को हमेशा अपडेट करते रहे, अपडेट करने से नई लैटस्ट कंप्युटर सिक्युरिटी अपडेट हो जाएगी   

2. Use antivirus Software - साइबर सुरक्षा के लिए Total Security जैसे सॉफ्टवेयर अपने कंप्युटर सिस्टम मे रखे जो की कोई भी Malware को पहले ही डिटेक्ट कर उसको कंप्युटर में परवेश करने से रोक देती हैं 

 3. Use Strong password - आप अपने कंप्युटर में अच्छा मजबूत पासवर्ड रखे जो आसानी से कोई भी        साइबर अपराधी आपके पासवर्ड को गेस ना कर पाए 

4. Do not open Email attachment - किसी गैर या फर्जी नाम से ईमेल अटैच्मन्ट ( फाइल को बिल्कुल ना खोले क्युकी साइबर अपराधी इन्ही अटैच्मन्ट के द्वारा अपना malware को आपके कंप्युटर सिस्टम मे परवेश कर देता है तो इन सब चीजों से बचा करे जितना होसके 

5. Avoid use of WiFi on public place - किसी अनजाने जगह पर wifi को कनेक्ट करने से बचे क्युकी वाईफाई के द्वारा साइबर अपराधी आपके सिस्टम मे  वायरस को भेज सकते है तथा सर डाटा को चुरा सकते हैं तो पब्लिक प्लेस मे किसी अनजाने वाईफाई कनेक्ट ना करे  
                                

                                                                   

READ

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.