Header Ads

Header ADS

pixel क्या है | resolution क्या है |

 1. पिक्सेल क्या होता है


बहुत ही आसान शब्दों में बताऊ तो पिक्सेल का मतलब किसी तस्वीर/विडियो का मूल तत्व कहनने का मतलब की कोई भी तस्वीर/विडिओ छोटो कण से बनी होती है जिसको pixel (तस्वीर में एक डॉट ) कहते है  | 


यदि डिजिटल शब्द में समझाऊ तो pixel ये सबसे छोटी इकाई है जो बहुत सर पिक्सेल एक साथ मे मिलकर एक तस्वीर/विडियो का निर्माण करती है |

पिक्सेल एक प्रकार से किसी डिजिटल technology को देखने के लिये होती है |

इसका इस्तेमाल इनपुट डिवाइस जैसे की कैमरा या फिर आउटपुट जैसे टीवी या कंप्यूटर, mobile फोन स्क्रीन पर होता है |

इसे और आसान अर्थ मे समझते है ‘पिक्सेल’ शब्द का आविष्कार `पिक्चर एलिमेंट’ के शब्दों को मिलाकर किया गया था। 


आप डिजिटल छवियों या चित्र में पिक्सेल को रंगीन square आकार के रूप में देख सकते हैं। स्क्रीन पर आपके द्वारा देखी जाने वाली चित्र या विडिओ में 

सैकड़ों हजारों (और अक्सर लाखों) पिक्सेल मिल कर एक चित्र का निर्माण होते हैं, आप इन छोटे छोटे पिक्सेल को देख पाएंगे जब इन चित्र को zoom करेंगे
इनका आकार आपको छोटे छटे square के रूप मैं देखने को मिलेगा


पिक्सेल कितना बड़ा हो सकता है?

पिक्सेल अपने आप में वास्तव में कोई एक आकार नहीं होता है। हालांकि, डिजिटल चित्र के पिक्सल को अक्सर इतने छोटे आकार में होता है
हमे दिखाई न देता है, इसलिए pixel के आकार बहुत छोटे तत्वों के रूप में होते हैं।




pixel
pixelpixel







2. कैमरा और पिक्सेल


पिक्सेल्स को समझने से पहले हमें कोई भी कैमरा के सेंसर को समझना होगा |

बहुत ही आसान शब्दों में यह कैमरा के ‘Sensor’ ही है जो लेंस के द्वारा आते हुए रोशनी को इकठ्ठा कर के फोटो बनाने में मदद करता है |

मान लें कि ‘Sensor’ एक चाय वाली ट्रे है और उस ट्रे में बहुत कटोरियाँ रखीं हुई हैं | इन कटोरियों को हम ‘Photosites’ या ‘Photodiodes’ कहते हैं | 


अब लेंस के द्वारा भीतर आती हुई प्रकाश (Photon packets ) वही प्रकाश भीतर आ कर इन कटोरियों में जम्मा हो रहीं हैं | 


यह कटोरियाँ मे ही रुके हुए छोटे छोटे block को ही ‘Pixel’ कहते हैं और जितनी अधिक कटोरियाँ होंगी (Megapixel या Million pixel ) वह उतने ही दाने (Photons) इकठ्ठा करेंगी |

हर एक Pixel/कटोरी के लिये एक महत्वपूर्ण तत्व होता हैं जो यह गिनती कर सकता हैं कि यहाँ पर कितने छोटे मटर के दाने जैसे (Photons) आये हैं | 


 शटर गिरने या photo को घिचने और ‘Exposure’ समाप्त होने के बाद इस कटोरी में जितने अधिक दाने या pixel जम्मा होंगे वह उतना ही शक्तिशाली इलेक्ट्रॉनिक source  उत्पन्न करेगा|
यही सोर्स ‘digital’ माध्यम के द्वारा किसी तस्वीरया vedio  की Depth /Quality या गुणवत्ता को तय करता है |



एक बात यहाँ जाननी जरूरी हैं कि किसी भी कैमरे का Sensor एक प्रकार से (Color Blind ) होता हैं मतलब उसको रंग का पहचान नहीं होता है और वह सिर्फ (Black and white) ही देख सकता हैं| 


इसके लिए सभी कटोरियों (Photodiodes) के ऊपर एक रंगीन फ़िल्टर (बाएर फ़िल्टर ) का परत चढ़ाना या रखना पड़ता है 


जो वस्तुतः लाल, हरे और नीले रंगों में होते हैं (R G B Format)  बाएर फ़िल्टर की परत के कारण ही हमें फोटो में रंग दिखाई पड़ते हैं  


अब किसी कैमरे में इन तीन रंगो में से जिसकी अधिकता होगी तो फोटो भी उसी प्रकार से उतना ही ज्यादा ही रंगीन दिखाई देगा |



क्या होता है Resolution


जब स्क्रीन पर vedio प्ले करते हैं तो अगर उसके डिस्प्ले पर ध्यान से देखेंगे तो आपको उसमे बहुत छोटे छोटे square  दिखाई देगें। उसी को Pixels कहते हैं। 


pixel हमेशा स्क्रीन पर Row और Column में बट्टे होते हैं उन्ही Row और Column में बट्टे Pixels को हम Resolution कहते हैं।

  जैसे अगर आपके कंप्यूटर , TV या स्मार्टफोन के स्क्रीन पर 400  Pixels और 600 Pixels Column में हैं तो आपके डिवाइस के स्क्रीन का resolution 400×600 है। 


 हमारे स्क्रीन का Pixels जितना ज्यादा होगा, Screen की Resolution उतनी ही अच्छी होगी। और कोई भी पिक्चर ज्यादा Clear दिखेगी।

Hd , full hd , quad hd

● आपने SD, HD , FULL HD , QUAD HD , 4K Ultra HD आदि के बारे में जानते ही होंगे आप जब भी स्मार्टफोन , TV आदि लेते हैं तो उसमें बताया होता है कि यह HD है, FULL HD तो इसका मतलब Resolution है जैसे:-

SD :- 720×576
HD :- 1220×720
FULL HD :- 1920×1080
QUAD HD :- 3840×2160
4K Ultra HD :- 4096+×2160

तो आपके स्मार्टफोन और TV आदि का Resolution जैसा होगा वैसी ही आपको उतना ही साफ दिखाई देगा।


3. TV या डिस्प्ले स्क्रीन और पिक्सेल

अब हम स्क्रीन के लिए भी पिक्सेल समझते है जैसे हम LCD और LED स्क्रीन के बारे में बात करेंगे जो हमारे computer , टीवी या फ़ोन के screen पर पर होता है |



हमने देखा कि display  पर आती हुई कोई भी पिक्चर या text  को अनगिनत छोटे ब्लॉक्स या जिसे पिक्चर एलेमेंट्स भी बोल सकते है  उसी से  बना होता है जिसे पिक्सेल कहते हैं | 


इसमें भी लाल, नीला और हरा  (RGB) क्रिस्टल या उसी को LED बोलते है जिसे इलेक्ट्रिक चार्ज के द्वारा ऑफ या ऑन किया जाता है जिससे को भी तस्वीरें या वीडियो चलती सी लगती हैं |

read

megapixel kya hai






कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.