Header Ads

Megapixel क्या है | मेगापिक्सेल के बारे मे हिन्दी मे जाने |

 Megapixel क्या है |

 यदि आपने भी कभी कैमरा या स्मार्टफोन मे मेगापिक्सेल के बारे मे जरूर सुन होगा
आखिर मेगापिक्सेल है क्या और क्यू जरूरी है कैमरों मे एक मेगापिक्सेल मे एक मिलियन पिक्सल होते है।

 और पिक्सेल एक डिजिटल इमेज सेंसर पर स्पॉट है जो की प्रकाश के फोटोन को इकट्ठा करता है एक चित्र का निर्माण करता है, और इन फोटॉनों को digitally रूप में परिवर्तित करता है।

यदि किसी कैमरे में आठ मेगापिक्सेल का रिज़ॉल्यूशन है, तो यह लगभग 8 मिलियन small square per inch जानकारी के साथ कोई भी चित्र को कैप्चर करने में मदद करता है,  


मेगापिक्सेल की संख्या जितनी ज्यादा होगी,
कैमरा उतना ही अधिक विस्तार से किसी भी चित्र को कैप्चर करेंगी । इसलिए, डिजिटल कैमरा या स्मार्टफोन खरीदते समय यह जरूर देखे की की वो कितना अधिक मेगापिक्सेल का है। 




megapixel kya hai

मेगापिक्सल के तकनीकी पहलू


किसी भी कैमरे पर, इमेज सेंसर के मदद से पिक्सेल बनता है और 10 लाख पिक्सेल के मदद से एक मेगापिक्सेल बनता है। 


कैमरा का इमेज सेंसर एक कंप्यूटर चिप की तरह होता है जो कैमरा के लेंस के द्वारा ट्रैवल कर प्रकाश की मात्रा को मापता है और चिप से टकराता है।


 कैमरा की मेगापिक्सेल संख्या की गिनती करना कैमरा पे लगे सेंसर के माध्यम से लिये गए coloumn पिक्सेल की संख्या से row पिक्सेल की संख्या से गुणा करके निकली जाती है। 


 उदाहरण के लिए, कोई कैमरा 2048 row को 3072 coloumn पिक्सेल द्वारा, कुल 6,291,456 पिक्सल (2048 x 3072) ही कैप्चर कर पता है।  


 यह (6,291,456) 6.3 मेगापिक्सेल कैमरा के लगभग हो सकता है।   क्योंकि "6,291,454 पिक्सेल" की तुलना में "6.3 मेगापिक्सेल" कहना बहुत आसान लगता है।
इसलिय इसे 6,291,454 पिक्सेल ना बोल कर इसे "6.3" बोलते है,  ऐसे मे इसे याद रखना भी ज्यादा आसान लगता है।
 


वैसे चित्र की शी गुणवता के लिये और बहुत चीज का ध्यान रखना होता जैसे की
कमरा की शटर स्पीड, शूटिंग मोड्स, स्टार्ट-अप टाइम, फ्लैश क्वालिटी और रंग को भी सटीकता भी कैमरे के अधिक गुणवता वाली चित्र बनाने मे मदद करती है।


डेढ़ लाख या दो लाख के iphone में केवल 12 मेगापिक्सेल का ही कैमरा होता है जबकि 25 हजार के फ़ोन में 42, 64 मेगापिक्सेल तक के कैमरे फोन मे ही देखने को मिल जाते है


यह मेगापिक्सेल को देखकर ये बात मन मे आ जाता है कि क्या सच मे इतने ज्यादा मेगापिक्सेल की कैमरे की हमलोग को फोन मे ही जरूरत है तो जवाब है हमारा की नही।

ऐसा हम इसलिए बोल रहे क्युकी किसी भी अच्छी चित्र लेने के लिए सेंसर का साइज और सेन्सर की अच्छा क्वालिटी मायने करता है, मेगापिक्सेल की चित्र लेने मे बहुत ही कम रोल होता है


जितना ज्यादा बड़ा सेंसर की लंबाई होगी चित्र भी उतनी ही साफ दिखाई देगी और चित्र को क्रॉप या ज़ूम करने पर चित्र की शार्पनेस बनी रहेगी,
                                                                 


अगर फोन की बात करे तो 42 मेगापिक्सेल के फोन मे 42 मेगापिक्सेल का सेंसर नही होता उनमें 12मेगापिक्सेल के सेंसर के मदद से ही पिक्सेल बनेंगी सुर उसमे 42 मेगापिक्सेल के चित्र बनाता है और यह सारा काम फोन मे लगे
प्रोसेसर की मदद से किया जाता है।




इंसानी आंख कितने मेगपिक्सेल की होती है ?


वैज्ञानिक और फोटोग्राफर Dr. Roger Clark के अनुसार बताए गए है कि, इंसान की आँख हमारा 576 मेगापिक्सेल की होती है। यही आप DSLR या किसी Phone के कैमरे से तुलना करेंगे तो यह बहुत ही ज्यादा बड़ा है।

576-मेगापिक्सेल रिज़ॉल्यूशन का यह मतलब होगा की अपने क्षेत्र के आकार के इंसान के आँख में 576 लाख पिक्सेल को आँखों मे जम्मा करना के बराबर है । 

 
Read
 

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.